सोमवार, 03 अक्टूबर 2022
राजनीति

खोरी गांव में पुलिस ने एक बार फिर किया लाठीचार्ज,कईं सामाजिक कार्यकर्ता गिरफ्तार!



इससे पहले 30 जून को किसान नेताओं के खोरी गांव में पंचायत करने के लिए पहुंचने से पहले भी पुलिस ने लोगों पर लाठीचार्ज किया था, जिसमें कईं लोगों को गंभीर चोटें आई थी.

फरीदाबाद के खोरी गांव में पुलिस ने आज फिर लाठीचार्ज किया है. गांव वालों पर लाठीचार्ज करने के साथ पुलिस ने कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस ने सोशल एक्टिविस्ट प्रभाकर, सार्थक, इंकलाबी मजदूर केंद्र के नितेश और गांव की कईं महिलाओं को गिरफ्तार किया है.

पिछले कईं दिनों से खोरी गांव छावनी में तब्दील है. गांव में हजारों की संख्या में पुलिसबल तैनात है. बुधवार को पुलिस प्रशासन ने बुल्डोजर चलाकर 300 घरों को गिरा दिया था. बारिश तेज होने के कारण घर ढहाने की कार्रवाई बीच में रोकनी पड़ी जिसके बाद प्रशासन आज फिर से घर ढहाने के लिए पहुंचा था. लेकिन खोरी गांव के लोगों ने एकजुट होकर पुलिसबल का रास्ता रोक लिया. खोरी गांव के लोगों ने गांव की ओर बढ़ते पुलिस बल के रास्ते में बैठकर सरकार और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की.

गांव वालों ने पुलिस प्रशासन को गांव के अंदर नहीं घुसने दिया. जिसके चलते पुलिस ने खोरी गांव के लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया. लाठीचार्ज के दौरान कई लोगों को चोटें आई हैं और कईं लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

इससे पहले 30 जून को किसान नेताओं के खोरी गांव में पंचायत करने के लिए पहुंचने से पहले भी पुलिस ने लोगों पर लाठीचार्ज किया था जिसमें कईं लोगों को गंभीर चोटें आई थी.

बता दें कि खोरी गांव के मकानों को हटाने के पीछे सुप्रीम कोर्ट ने खोरी गांव के वन विभाग की जमीन पर गैर कानूनी तरीके से बसे होने की दलील दी है. कई सामाजिक संगठनों ने मिलकर इस मामले में पुनर्विचार याचिका भी दायर की थी मगर सुप्रीम कोर्ट ने उसको खारिज करते हुए 6 हफ्तों के भीतर प्रशासन को गांव खाली करवाए जाने का आदेश दिया है.