सोमवार, 03 अक्टूबर 2022
टॉप न्यूज़

करनाल: अधिकारियों ने नहीं की सुनवाई तो लोगों ने खुद बनाना शुरू की गली!



सड़क के निर्माण के लिए अधिकारियों के इंतजार के बाद, सेक्टर 13 के निवासियों ने खुद सड़क के हिस्से पर इंटर-लॉकिंग टाइलें बिछाना शुरू कर दिया. लोगों ने कहा कि वो हर रोज दो घंटे काम करेंगे. इस मामले में जब खुद भाजपा पार्षद वीर विक्रम कुमार की भी सुनवाई नहीं हुई

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विधानसभा क्षेत्र करनाल के सेक्टर 13 से लोगों ने सरकार का एक नये तरीके से विरोध किया है. पिछले तीन महीने से टूटी पड़ी गली को बनाने के लिए सेक्टर 13 के लोग इकट्ठे होकर गली बनाने में जुट गए. भूमिगत सीवरेज डालने के लिए सरकारी विभाग की ओर से गली खोदी गई थी जिसके बाद पिछले तीन महीने से गली टूटी पड़ी है अनेक शिकायतों के बाद भी जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो लोगों ने खुद ही पैसे इकट्ठा करके गली का निर्माण शुरू कर दिया. 

सड़क के निर्माण के लिए अधिकारियों के इंतजार के बाद, सेक्टर 13 के निवासियों ने खुद सड़क के हिस्से पर इंटर-लॉकिंग टाइलें बिछाना शुरू कर दिया. लोगों ने कहा कि वो हर रोज दो घंटे काम करेंगे. इस मामले में जब खुद भाजपा पार्षद वीर विक्रम कुमार की भी सुनवाई नहीं हुई तो वो भी जनता के साथ खड़े दिखाई दिए. पार्षद ने आरोप लगाए कि विभाग के लोगों ने सीवरेज बिछाया था, जबकि केएमसी ने अभी तक पानी की निकासी के लिए पाइपलाइन नहीं बिछाई. दोनों विभागों को एक दूसरे के साथ तालमेल नहीं होने के कारण यहां के निवासी इसका खामियाजा भुगत रहे हैं. काम में देरी के कारण पैदल चलने वालों को भारी परेशानी का सामाना करना पड़ रहा है और आए दिन यहां दुर्घटनाएं होती रहती हैं.

द ट्रिब्यून में छपी खबर के अनुसार पार्षद ने कहा, “मैंने अधिकारियों से कईं बार अनुरोध किया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई, जिसके चलते यहां के निवासियों को यह कदम उठाने के लिए मजबूर होना पड़ा है.”

वहीं निवासियों का कहना है कि काम में देरी के लिए अधिकारियों के खिलाफ कदम उठाया जाना चाहिए. अधिकारियों के चलते लोग परेशान हैं. हम इस रास्ते पर चल भी नहीं सकते हैं और बरसात के मौसम में सभी के लिए भयानक स्थिति थी इसलिए हमने इस सड़क को अपने आप चलने योग्य बनाने के लिए हर रोज दो घंटे समर्पित करने का फैसला किया है.”