सोमवार, 03 अक्टूबर 2022
खेत-खलिहान

देश भर में दिखा किसानों के ‘भारत बंद’ का असर, किसान बोले-कानून वापसी के बिना घर वापसी नहीं!


फोटो-सोशल मीडिया

'भारत बंद' के समर्थन में सड़कों पर आए लोग. किसानों ने रेलमार्ग और राष्ट्रीय राजमार्ग किए बंद.

तीन कृषि कानूनों को रद्द करने और फसलों पर एमएसपी की मांग को लेकर किसानों ने देशव्यापी भारत बंद किया. देश के अलग-अलग हिस्सों से आई तस्वीरों में किसानों का भारत बंद कार्यक्रम सफल दिखाई दिया. संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत में आज के लिए भारत बंद की कॉल दी गई थी. सुबह 6 बजे से शुरू होकर शाम 4 बजे तक चले भारत बंद के दौरान अस्पताल, मेडिकल स्टोर, फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस जैसी आपात सेवाओं को छूट रही. 

भारत बंद का सबसे ज्यादा असर हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में रहा. वहीं गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, तेलंगाना और उत्तराखंड में भी किसानों के ‘भारत बंद’ के समर्थन में लोग बड़ी संख्या में सड़कों पर दिखाई दिए.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के विधानसभा क्षेत्र करनाल में भी भारत बंद का कार्यक्रम सफल रहा. करनाल में किसानों ने रेलवे रोड पर स्थित भाजपा के पार्टी कार्यालय को ही बंद करवा दिया.

वहीं किसान आंदोलन का असर अब अहीरवाल क्षेत्र में भी दिखने लगा है. ऐसा माना जा रहा था कि अबतक इस क्षेत्र में किसान आंदोलन को व्यापक जन समर्थन नहीं मिला था और अहीरवाल क्षेत्र के किसान, किसान आंदोलन में खुलकर भागीदारी नहीं दे रहे थे. लेकिन आज भारत बंद के दौरान अहीरवाल क्षेत्र की तस्वीर अलग ही थी. रेवाड़ी के किसानों ने रेवाड़ी-रोहतक रोड पर स्थित गंग्याचा टोल को फ्री करवा दिया और जब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा तब तक टोल नहीं देने की बात कही.

Image
गंग्याचा टोल पर भारत बंद के समर्थन में जुटे रेवाड़ी के किसान

किसान नेता राकेश टिकैत ने भारत बंद को सफल बताते हुए लिखा,”मुठ्ठी भर किसान, कुछ राज्यों का आन्दोलन बताने वाले आंख खोलकर देख ले कि किसानो के आव्हान पर आज पूरा देश #भारत_बंद का समर्थन कर रहा है, बिना किसी दबाव व हिंसा के ऐतिहासिक #BharatBand जारी है सरकार कान खोल कर लें, कृषि कानूनों की वापसी व MSP की गारंटी के बिना घर वापसी नहीं होगी.”

कृषि विशेषज्ञ रमनदीप सिंह मान ने भारत बंद को सफल बताते हुए केंद्र की बेजेपी सरकार निशाना साधते हुए लिखा,”आज के भारत बंद का रिस्पांस देखने के बाद कोई बीजेपी का नेता, प्रवक्ता, ये नहीं बोल पायेगा की #किसानआंदोलन कुछ एक ख़ास राज्यों का आंदोलन है. बीजेपी वालों के हिसाब से तो आज सारा भारत ही खालिस्तानी, नक्सल, आतंकवादी बन गया है. अगर मोदी जी अब भी न जागे, तो बीजेपी का कोई नाम लेने वाला नहीं बचेगा.”

देश के अलग-अलग राज्यों से भारत बंद की तस्वीरें.

Image
उत्तराखंड: उधम सिंह नगर में नेशनल हाइवे पर बैठे किसान
Image
तेलंगाना: भारत बंद के समर्थन में सड़कों पर उतरे किसान
May be an image of 5 people, people standing and road
मध्य प्रेदश: गुना में भारत बंद के समर्थन में आए लोग
May be an image of 8 people, people standing, road and text that says "OPPO ©comrade"
महाराष्ट्र: पालघर में भारत बंद के समर्थन में सड़कों पर महिलाएं
Image
चंडीगढ़: भारत बंद के समर्थन में सड़क पर बैठे किसान

नोेएडा में भारत बंद में शामिल हुए किसानों और यूपी पुलिस के बीच झड़प हो गई. किसानों ने पुलिस बेरिकेड्स हटाकर खेती-किसानी के नारे लगाए.

भारत बंद के दौरान नोएडा में यूपी पुलिस और किसानों के बीच हुई झड़प

वहीं गुजरात में भारत बंद का समर्थन कर रहे किसानों को गुजरात पुलिस ने हिरासत में ले लिया. किसानों ने पुलिस हिरासत में ही खेती-किसानी के समर्थन में नारे लगाए.

गुजरात पुलिस ने किसानों को हिरासत में लिया

विपक्षी पार्टियों ने किया भारत बंद का समर्थन

वहीं विपक्षी राजनीतिक पार्टियों की ओर से भी भारत बंद को समर्थन मिला. इस कड़ी में मुख्य विपक्षी पार्टी के नेता राहुल गांधी ने भारत बंद का समर्थन किया. राहुल गांधी ने भारत बंद के समर्थन में ट्वीट करते हुए लिखा, “किसानों का अहिंसक सत्याग्रह आज भी अखंड है लेकिन शोषण-कार सरकार को ये नहीं पसंद है इसलिए #आज_भारत_बंद_है #IStandWithFarmers”

वहीं समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने भी किसाने के भारत बंद का समर्थन किया. उन्होंने भारत बंद के समर्थन में ट्वीट करते हुए लिखा, “संयुक्त किसान मोर्चा के ‘भारत बंद’ को सपा का पूर्ण समर्थन है. देश के अन्नदाता का मान न करनेवाली दंभी भाजपा सत्ता में बने रहने का नैतिक अधिकार खो चुकी है. किसान आंदोलन भाजपा के अंदर टूटन का कारण बनने लगा है.”

भारत ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी किसानों के भारत बंद को समर्थन मिला. अमेरिका, कानाडा,न्यूजीलैंड और इंग्लैंड में रहने वाले भारतीयों ने ‘भारत बंद’ के समर्थन में प्रदर्शन किए गए.