सोमवार, 03 अक्टूबर 2022
खेत-खलिहान

तीन कृषि कानून किसानों के लिए नहीं उद्योगपतियों के लिए थे: राहुल गांधी



महंगाई के खिलाफ हल्ला बोल रैली में राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार जो तीन कृषि कानून लेकर आई थी वो किसानों के लिए नहीं थे तीनों कृषि कानून उद्योगपतियों के लिए लाए गए थे.

दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस ने महंगाई के खिलाफ हल्ला बोल रैली का आयोजन किया. रैली में दिल्ली से सटे हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश पंजाब और अन्य राज्यों से कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंचे. वहीं अधिकतर कांग्रेसी नेता मंच से राहुल गांधी को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने की मांग उठाते नजर आए. महंगाई के खिलाफ हल्ला बोल रैली में राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार जो तीन कृषि कानून लेकर आई थी वो किसानों के लिए नहीं थे तीनों कृषि कानून उद्योगपतियों के लिए लाए गए थे.

वहीं मीडिया को लेकर भी राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा. राहुल गांधी ने कहा कि पूरा मीडिया दो उद्योगपतियों के हाथों में है. ये दो उद्योगपति नरेंद्र मोदी के लिए काम करते हैं और नरेंद्र मोदी इन दो उद्योगपतियों के लिए काम करते हैं.

राहुल ने कहा, “देश के संस्थानों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और एनजीओ पर आक्रमण हो रहे हैं. विपक्ष के सामने जनता के बीच जाने के सिवाये कोई रास्ता नहीं बचा है. हमें अब सीधा जनता के पास जाना पड़ेगा. हम जनता के बीच जाकर देश की सच्चाई बताने का काम करेंगे.” 

उन्होंने कहा, “अगर हम आज खड़े नहीं हुए तो यह देश नहीं बचेगा. यह देश हिंदुस्तान के गरीब लोगों का देश है यह दो उद्योगपतियों का देश नहीं है. मोदी की विचारधारा देश को बंटकर चंद लोगों को फायदा पहुंचाने की है इसके उलट हमारी विचारधारा गरीब, मजदूर तक मदद पहुंचाने की है. यूपीए ने अपने समय में किसानों को 70 हजार करोड़ दिया मोदी ने तीन काले कानून दिये. हमने मजदूरों को मनरेगा दिया मोदी ने नाम बदलकर नरेगा दिया. हम जमीन अधिग्रहण बिल लेकर आए. लाखों किसान करोड़पति बनाए लेकिन मोदी ने सत्ता में आते ही भूमि अधिग्रहण कानून खत्म करने की कोशिश की.”

राहुल ने कहा, “हमने 27 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला. भोजन का अधिकार दिया, शिक्षा का अधिकार दिया, रोजगार की गारंटी देकर 27 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाला लेकिन मोदी ने सत्ता में आने के बाद 23 करोड़ लोगों को गरीबी में डाल दिया. मोदी देश को पीछे ले जा रहे हैं. देश में नफरत और डर फैला रहे हैं. पिछले 8 साल में मोदी ने देश को कमजोर करने का काम किया है पिछले 40 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है. हम नफरत मिटाते हैं जब नफरत कम होती है तो देश आगे बढ़ता है.”