शुक्रवार, 27 जनवरी 2023
टॉप न्यूज़

लाठीचार्ज के विरोध में करनाल लघु सचिवालय का घेराव करेंगे किसान, सरकार ने लगाई धारा-144, इंटरनेट सेवा बंद!



किसानों ने बसताड़ा लाठीचार्ज के विरोध में करनाल लघु सचिवालय का घेराव करने का एलान किया है. किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए सरकार ने करनाल में मंगलवार रात 12 बजे तक के लिए इंटरनेट और एसएमएस सेवाएं बंद कर दी हैं.

28 अगस्त को करनाल के बसताड़ा टोल टैक्स पर किसानों पर हुए बर्बर लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने 7 सितंबर को करनाल में बड़े धरने-प्रदर्शन का एलान किया है. किसानों ने करनाल लघु सचिवालय का घेराव करने की रणनीति बनाई है. वहीं किसानों के प्रदर्शन के चलते सरकार ने करनाल में धारा-144 लगा दी है और साथ ही इंटरनेट और एसएमएस सेवाएं भी बंद कर दी हैं.

28 अगस्त को किसानों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने 30 अगस्त को घरौंडा अनाज मंडी में एक दिन की कॉल पर किसान पंचायत की थी. घरौंडा अनाज मंडी की किसान पंचायत में ही 7 सिंतबर को करनाल लघु सचिवालय घेरने का निर्णय लिया गया था.

घरौंडा पंचायत में किसानों की ओर से मांग की गई थी कि किसानो पर लाठीचार्ज करने वाले सभी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज किये जाए. साथ ही मृतक किसान के परिवार को 25 लाख रुपये और घायल किसानो को 2-2 लाख रुपये देने की मांग की थी. मांगे न माने जाने पर 7 सितंबर को करनाल में बड़ा धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी गई थी. लेकिन प्रशासन की ओर से इनमें से कोई भी मांग नहीं मानी गई है जिसके चलते किसान करनाल लघु सचिवालय का घेराव करने की तैयारी में हैं.

बता दें कि करनाल लाठीचार्ज में करनाल के गांव रायपुर जाटान के किसान सुशील काजल की मौत हो गई थी. साथ ही पुलिस लाठीचार्ज में कईं किसान गंभीर रूप से घायल हुए थे.

वहीं इस बीच किसानों के सिर फोड़ने का आदेश देने वाले आईएएस अधिकारी आयुष सिन्हा का करनाल से तबादला कर दिया गया है. किसानों ने अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी लेकिन किसानों की मांग नहीं मानी गई. जिसके चलते कल यानी 7 सितंबर को किसान करनाल में सचिवालय का घेराव करेंगे.

कल करनाल में होने वाले धरने को लेकर किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो के जरिए रणनीति बताई है. किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा 7 सितंबर को पूरे हरियाणा के किसान सुबह 10 बजे करनाल अनाज मंडी में इकट्ठा होंगे. इसके बाद सभी किसान करनाल लघु सचिवालय का घेराव करने के लिए करनाल के सेक्टर-12 की ओर बढ़ेंगे.

वहीं करनाल प्रशासन ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है, “किसानों को किसी भी हालत में लघु सचिवालय का घेराव नहीं करने दिया जाएगा.  प्रशासन ने कहा करनाल में किसान पंचायत को देखते हुए सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए आज दोपहर 12.30 बजे से कल 7 सितंबर रात 12 बजे तक इंटरनेट सेवाएं निलंबित करने के निर्देश दिए हैं.”