शनिवार, 04 फ़रवरी 2023
टॉप न्यूज़

सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा को झाड़ा, कहा, “टीवी पर आकर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए”



सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए उनका बयान ही जिम्मेदार है, जहां दो लोगों ने एक दर्जी कन्हैयालाल की हत्या कर दी थी.

पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी फटकार लगाई है.
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए उनका बयान ही जिम्मेदार है, जहां दो लोगों ने एक दर्जी कन्हैयालाल की हत्या कर दी थी.
कोर्ट ने उन्हें देश से माफी मांगने को कहा है. कोर्ट ने कहा कि उन्होंने अपने बयान से देश की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा किया है. इससे ही देशभर में अशांति फैल गई है.
सुप्रीम कोर्ट के दो जजों की बेंच ने कहा कि नुपुर ने टेलीविजन पर आकर धर्म विशेष के खिलाफ उकसाने वाली टिप्पणी की.
उन्होंने इस पर शर्तों के साथ ही माफी मांगी, वह भी तब, जब उनके बयान पर लोगों का गुस्सा भड़क उठा था.
पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद नुपुर शर्मा पर देश भर के पुलिस थानों में एफआईआर दर्ज की गई थी. नूपुर शर्मा ने सारे केस दिल्ली ट्रांसफर करने की अर्जी दी थी, सुप्रीम कोर्ट ने इससे इंकार कर दिया. इसके बाद नूपुर ने अर्जी वापस ले ली. कोर्ट ने उन्हें हाई कोर्ट में याचिका दायर करने को कहा है.
सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को भी खूब लताड़ा है और उसके काम करने के तरीके पर सख्त टिप्पणी की है. जस्टिस सूर्यकांत की बेंच ने जो कहा, यहां बिंदुवार जानिए-

  1. आपकी जुबान (नूपुर शर्मा) ने पूरे देश में आग लगा दी है.
  2. जब मामले पर कोर्ट में सुनवाई चल रही है तो किसी टीवी चैनल और आपको इसपर बहस करने की क्या जरूरत है?
  3. आपको टीवी पर जाकर सारे देश से माफी मांगनी चाहिए.
  4. पार्टी की प्रवक्ता होने पर आपको ताकत का गुरूर हो गया है.
  5. दिल्ली पुलिस बताए नूपुर पर इतने मामले दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने क्या किया?
  6. नूपुर की शिकायत पर पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन इतनी FIR के बाद भी नूपुर को हाथ तक नहीं लगाया.
  7. नूपुर शर्मा को जान का खतरा है या वह खुद एक खतरा बन गई हैं?
  8. नूपुर शर्मा ने माफी मांगने में देरी की और वो भी सशर्त मांगी, कि अगर किसी की भावना को ठेस पहुंची हो
  9. उदयपुर में जो दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई, उसके लिए नूपुर की भड़ास जिम्मेदार है.

जब नूपुर शर्मा के वकील ने कहा कि नूपुर पुलिस को जांच में सहयोग कर रही है, कहीं भाग नहीं रही तो जवाब में सुप्रीम कोर्ट ने कहा-“जरूर, आपके लिए वहां रेड कारपेट होगा.”