हरियाणा में फिर टले पंचायत चुनाव, अब नवंबर के बाद होंगे चुनाव!

हरियाणा में पंचायत चुनाव और आगे टल गए हैं. पंचायत चुनाव अब नवंबर के बाद होने की संभावना है. प्रदेश सरकार की ओर से आरक्षित सीटों का ब्योरा नहीं दे पाने के कारण पंचायत चुनाव टले हैं. राज्य चुनाव आयोग ने आरक्षित सीटों पर डेटा की कमी का हवाला देते हुए 30 सितंबर तक चुनाव कराने में असमर्थता जाहीर की है. चुनाव आयोग ने विकास एवं पंचायत विभाग को पत्र लिखकर 22 सितंबर तक आरक्षित सीटों का ब्योरा मुहैया कराने की बात कही है. ऐसे में अगर पंचायत विभाग 22 सितंबर तक चुनाव आयोग को जानकारी नहीं दे पाया तो 30 सितंबर तक चुनाव होने की कोई संभावना नहीं है.

वहीं पंचायत विभाग द्वारा अब तक आरक्षित सीटों का पूरा ब्योरा देने के चलते राज्य चुनाव आयोग ने भी सरकार को जानकारी देते हुए 30 सितंबर तक चुनाव करवाने में असमर्थता जाहिर की है. बता दें कि राज्य सरकार ने इस साल जुलाई में एक अधिसूचना जारी की थी जिसके अनुसार राज्य चुनाव आयोग को 30 सितंबर तक पंचों, सरपंचों और पंचायत समितियों और जिला परिषदों के सदस्यों के आम चुनाव कराने थे.

बता दें कि पंचायती राज चुनाव फरवरी 2021 में होने थे. बीसी-ए आरक्षण, महिलाओं के लिए 50 फीसदी सीटें, सम-विषम आधार पर सीटें आरक्षित करने को लेकर हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में विभिन्न याचिकाएं विचाराधीन होने के कारण चुनाव टलते गए. इसी साल मार्च-अप्रैल में हाईकोर्ट ने चुनाव को हरी झंडी दी थी जिसके बाद सरकार ने राज्य चुनाव आयोग को चुनाव कराने की तैयारी करने के निर्देश दिए थे. जिसके बाद सितंबर के आखिर तक चुनाव कराने की समय सीमा भी तय की गई थी लेकिन अब पिछड़ा वर्ग आयोग द्वारा बीसी-ए को आरक्षण देने संबंधी रिपोर्ट सरकार को सौंपने के कारण मुख्य देरी हो रही है.