सोमवार, 03 अक्टूबर 2022
खेत-खलिहान

किसानों से 60 रुपये किलो खरीदा सेब दिल्ली में 500 रुपये प्रति किलो तक बेच रही कंपनियां!



जिस सेब के लिए किसानों को 60 रुपये किलो का भाव दिया जा रहा है उसी क्वालिटी का सेब देश की राजधानी में प्राइवेट कंपनियां 500 रुपए प्रतिकिलो तक बेच रही हैं.

दिल्ली के मॉल में 491 रुपये प्रतिकिलों के हिसाब से बिक रहे सेब की खबर ने हिमाचल और कश्मीर के सेब किसानों की नींद उड़ा दी है. दरअसल कल से एक फोटो वायरल हो रही है जिसमें एक किलो सेब का भाव 491 रुपए लिखा है. जिसके बाद से बहस छिड रही है कि जिस सेब के लिए किसानों को 60 रुपये किलो का भाव दिया जा रहा है उसी क्वालिटी का सेब देश की राजधानी में प्राइवेट कंपनियों द्वारा 500 रुपए प्रतिकिलो तक बेचा जा रहा है.

इसको लेकर कृषि विशेषज्ञ दविंदर शर्मा ने ट्विट करते हुए लिखा कि, दिल्ली में सुपरमार्केट सामान्य गुणवत्ता वाले सेब को 491 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेच रही है, जबकि किसानों को इसी सेब के लिए औसतन 60 रुपये किलो मिलता है.

बता दें कि सेब का उचित भाव न मिलने के कारण हिमाचल के किसान पिछले दो महीने से आंदोलन कर रहे हैं. किसानों ने अडानी की एग्रीफ्रेस कंपनी पर आरोप लगाया है कि कंपनी सेब के रेट निकालने में अपनी मोनोपॉली चला रही है और कंपनी अपनी मनमर्जी से सेब के दाम घटा रही है. अ़डानी की कंपनी हिमाचल में तीन कोल्ट स्टोर स्थापित कर चुकी है. प्राइवेट कंपनी किसानों से कम भाव में सेब खरीदकर स्टोर करके ज्यादा भाव में बेचने का काम कर रही है. इसके चलते न तो किसानों को उचित दाम मिल रहा है और न ही ग्राहकों को किसी तरह का फायदा हो रहा है.