2 किताब बनाने के लिए स्कैम्बल किया। यह न केवल पांच शताब्दियों तक जीवित रहा है, बल्कि इलेक्ट्रॉनिक टाइपसेटिंग में भी छलांग है

2 किताब बनाने के लिए स्कैम्बल किया। यह न केवल पांच शताब्दियों तक जीवित रहा है, बल्कि इलेक्ट्रॉनिक टाइपसेटिंग में भी छलांग है

किताब बनाने के लिए स्कैम्बल किया। यह न केवल पांच शताब्दियों तक जीवित रहा है, बल्कि इलेक्ट्रॉनिक टाइपसेटिंग में भी छलांग है

किताब बनाने के लिए स्कैम्बल किया। यह न केवल पांच शताब्दियों तक जीवित रहा है, बल्कि इलेक्ट्रॉनिक टाइपसेटिंग में भी छलांग है

मध्य प्रदेश : ना भाव, ना भावांतर

मध्य प्रदेश में सोयाबीन की फसल कटने लगी हैं, लेकिन न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी पर सरकारी खरीद ना शुरू होने से किसान अपनी उपज औने-पौने दाम पर बेच रहे हैं। देखिए इंदौर से पुष्पेंद्र वैद्य की रिपोर्ट